Ad Code

'बैंडिट क्वीन' में सीमा बिस्वास के सीन को देखकर पिता की प्रतिकिया सुन फूट-फूट कर रोने लगीं थीं अभिनेत्री

जीवन अनमोल है , इसे आत्महत्या कर नष्ट नहीं करें !

मास्क लगाकर रहें ! सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखें !

संस्कार न्यूज़ @ राम गोपाल सैनी 

मुंबई (संस्कार न्यूज़) चंबल की कुख्यात डाकू फूलन देवी जिसके बारे में लोग सिर्फ कहानियां जानते थे उस कहानी को बड़े पर्दे के जरिए लोगों के सामने लाने वाली एक्ट्रेस सीमा बिस्वास ने अपनी एक्टिंग से हर किसी का दिल जीता है। सीमा बिस्वास बॉलीवुड की एक ऐसी एक्ट्रेस हैं जिन्होंने हमेशा चुनौतियों वाले रोल चुने। फिल्म 'बैंडिट क्वीन' (bandit queen)भी उनकी जिंदगी की सबसे अहम और चैलेंजिंग फिल्म थी, लेकिन इस फिल्म में फूलन देवी का किरदार निभाकर सीमा हर किसी के जेहन में बस गईं। सीमा का 14 जनवरी को 55वां जन्मदिन है। तो चलिए उनके जन्मदिन के मौके पर जानते हैं उनके फिल्मी अनुभव के बारे में।

सीमा बिस्वास का जन्म गुवाहाटी में हुआ था लेकिन उनके माता पिता उन्हें लेकर असम के नलबाड़ी में शिफ्ट हो गए थे। उनकी मां असमी सिनेमा और नाटकों में अभिनय के लिए मशहूर थीं। सीमा की मां चाहती थीं कि उनकी बेटी भी एक्टिंग करे। ऐसे में एक्ट्रेस बनने की कोई बड़ी ख्वाहिश ना होते हुए भी सीमा बिस्वास नाटकों में काम करने लगीं। जब उन्होंने फिल्मों में करियर बनाने के फैसला किया तो सबसे पहले उन्होंने नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा में एडमिशन ले लिया।

इस फिल्म के लिए सीमा बिस्वास ने नेशनल अवॉर्ड जीता था। एक इंटरव्यू में सीमा ने बताया था कि फिल्म में बोल्ड सीन शूट करना उनके लिए बहुत कठिन था। उन्होंने बताया था कि फिल्म में ऐसे सीन को शूट करने के लिए रुम में डायरेक्टर और कैमरामैन ही थे और जब शूट खत्म हुआ तो पूरी यूनिट को रोना आ गया था। दरअसल फिल्म के एक सीन में पहले तो ठाकुर फूलन देवी के साथ गैंगरेप करता है और फिर उसे बिना कपड़ों के ही कुएं से पानी लाने को भेज देता है। फिल्म में ये सीन करना उनके लिए बिल्कुल भी आसान नहीं था।

सीमा ने बताया था कि उन्होंने बाद में डायरेक्टर से कहा था कि इस सीन को फिल्म से हटा दें, लेकिन वो नहीं माने। सीमा को डर था कि उनके पिता जब इस फिल्म को देखेंगे तो कैसे रिएक्ट करेंगे। हालांकि जब सीमा के पिता ने फिल्म को देखा को उन्होंने अपनी बेटी की जबरदस्त एक्टिंग पर उन्हें जमकर शाबाशी दी। सीमा ने बताया था कि पिता के मुंह से अपने लिए तारीफें सुनकर उन्हें रोना आ गया था। बता दें कि इस फिल्म के लिए सीमा की दर्शकों के साथ साथ क्रिटिक्स की भी जमकर तारीफ मिली थी।


हम सभी किसी ना किसी रूप में जरूरतमंदों की सेवा कर सकते हैं | पड़ोसी भूखा नहीं सोए इसका ध्यान रखें |

" संस्कार न्यूज़ " कोरोना योद्धाओं को दिल से धन्यवाद देता है |

विडियो देखने के लिए -https://www.youtube.com/channel/UCDNuBdPbTqYEOA-jHQPqY0Q 



Post a comment

0 Comments