Ad Code

गौशालाओं को 275 करोड़ रूपए का अनुदान होगा जल्द वितरित 


घर पर रहें,  सुरक्षित रहें ! सोशल डिस्टेंस बनाए रखें !



संस्कार न्यूज़ @ राम गोपाल सैनी / गोविंद सैनी


जयपुर @ (संस्कार न्यूज़ ) मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि गौशालाओं को राज्य सरकार की ओर से दिया जाने वाला अनुदान जल्द से जल्द वितरित किया जाए। इसमें किसी तरह की देरी नहीं हो। सरकार ने गौशालाओं को करीब 275 करोड़ रूपए का अनुदान दिया है। कोविड-19 महामारी से परेशानी झेल रहे गौशाला संचालकों को इससे राहत मिलेगी। उन्होंने कहा कि डेयरी एवं पशुपालन अर्थव्यवस्था तथा किसानों की आजीविका का प्रमुख आधार है। कोरोना महामारी के कारण राज्य सरकार पशुपालकों एवं किसानाें को किसी तरह की परेशानी नहीं आने देगी।  






 

गहलोत आज मुख्यमंत्री निवास पर वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से पशुपालन, डेयरी, मत्स्य एवं गौपालन विभाग की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन के कारण दुग्ध उत्पादों की मांग पर असर पड़ा है। ऎसे में डेयरियों को अपनी विपणन व्यवस्था को मजबूत बनाना चाहिए। साथ ही, ऎसे विकल्प तलाशें जाएं जिनसे पशुपालकों एवं किसानों की आय बढ़ाई जा सके। उन्होंने अन्य डेयरी संघों की तुलना में जयपुर डेयरी संघ की दुग्ध दरों में अंतर का परीक्षण कराने के निर्देश दिए ताकि यहां के पशुपालकों को नुकसान न हो। 

 

कोविड महामारी के कारण दुग्ध उत्पादों की मांग हुई कम

 

गौपालन मंत्री प्रमोद जैन भाया ने कहा कि कोविड महामारी के कारण प्रदेशभर में दुग्ध उत्पादों की मांग और सप्लाई में काफी अंतर आया है। डेयरी संघों के सामने भी तरलता का संकट खड़ा हो गया है। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण यदि और बढ़ता है तो विभाग ने दुग्ध उत्पादों की डोर-टू-डोर सप्लाई की तैयारी कर रखी है। पशुपालन राज्य मंत्री श्री भजन लाल जाटव ने गौशालाओं के कार्य मनरेगा के माध्यम से कराए जाने का सुझाव दिया। 

 

मांग बढ़ाने के लिए विभाग कर रहा प्रयास

 

शासन सचिव, पशुपालन, डॉ. राजेश शर्मा ने बताया कि लॉकडाउन के कारण डेयरियों के दुग्ध संकलन में 15 से 20 प्रतिशत की वृद्धि हुई है जबकि मांग 30 से 35 प्रतिशत तक घट गई है। सभी दुग्ध उत्पादों की खपत में बड़ी गिरावट आई है। देशभर में अन्य डेयरियों ने भी लॉकडाउन का असर पड़ने के कारण दूध की दरों में कमी की है। लॉकडाउन से पड़े विपरीत प्रभाव को कम करने के लिए राजकीय विभागों, भारतीय सेना और दिल्ली डेयरी में दुग्ध आपूर्ति बढ़ाने के प्रयास किए जा रहे हैं। 


 

चौमूं के पूर्व विधायक भगवान सहाय सैनी ने मुख्यमंत्री के इस फैसले का दिल से स्वागत किया है और कहा कि प्रदेश के सी एम ने बेजुबानों कि सुध लेल ली है |


हम सभी किसी ना किसी रूप में जरूरतमंदों की सेवा कर सकते हैं | पड़ोसी भूखा नहीं सोए इसका ध्यान रखें |


" संस्कार न्यूज़ " कोरोना योद्धाओं को दिल से धन्यवाद देता है |


विडियो देखने के लिए - https://www.youtube.com/channel/UCDNuBdPbTqYEOA-jHQPqY0Q 




अपने आसपास की खबरों , लेखों और विज्ञापन के लिए संपर्क करें - 9214996258, 7014468512, 8058171770.





Post a comment

0 Comments