3-3 घंटे की दो पारियों में करवाई 13 जोड़ों की शादी

जीवन अनमोल है इसे आत्महत्या कर नष्ट नहीं करें !

मास्क लगाकर रहें ! सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखें !

संस्कार न्यूज़ राम गोपाल सैनी

जयपुर (संस्कार न्यूज़ ) कोरोना में राज्य सरकार की विवाह संबंधी गाइडलाइन की गफलत का असर विवाह समारोहों में दिखने लगा है। न तो विवाह समारोहों के मेजबानों को कुछ समझ आ रहा है और न ही विवाह की रस्में संपन्न कराने वाले पंडितों को। आखिर वे कौनसे मंत्र पढ़ें और कौनसे छोड़ें।

आज  एक सामूहिक विवाह समारोह में कुछ इसी तरह की बातें देखनेे काे मिलीं। यहां राधा विहार स्थित श्रीराधाजी झटपट बालाजी मंदिर में परमार्थ एवं आध्यात्मिक सेवा समिति की ओर से यहां 13 जोड़ों का सामूहिक विवाह आयोजन पहले से तय था।


 नई गाइडलाइन और कोराेना के बढ़ते प्रकोप के चलते विवाह समारोह को दो पारियों में कर दिया गया और शामिल होने वाले मेहमान भी तय कर दिए गए कि एक परिवार के केवल 5 लोग शामिल हो सकते हैं। इससे सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क व अन्य कोरोना गाइडलाइन के नियम तो पूरे कर लिए गए।



अब दिक्कत आई पंडितों को विवाह की रस्में संपन्न कराने में। आगुणी कराएं या छोड़ दें। फेरे से पहले के पूरे मंत्र पढ़ें या आगे बढ़ जाएं। क्योंकि फेरे की रस्मों में ही कई घंटे लग जाते हैं, फिर बाकी काम कैसे होंगे। यानी फेर पट्‌टा, विदा आदि की रस्में। एक पंडित का कहना था, रस्में शॉर्ट कराने के अलावा उनके पास कोई चारा नहीं है। केवल फरे के जरूरी मंत्रों को पढ़कर विवाह संपन्न करा रहे हैं, बाकी काम वे विदा के बाद घर पर कर लेंगे।



हम सभी किसी ना किसी रूप में जरूरतमंदों की सेवा कर सकते हैं | पड़ोसी भूखा नहीं सोए इसका ध्यान रखें |

" संस्कार न्यूज़ " कोरोना योद्धाओं को दिल से धन्यवाद देता है |

विडियो देखने के लिए -https://www.youtube.com/channel/UCDNuBdPbTqYEOA-jHQPqY0Q 

अपने आसपास की खबरों , लेखों और विज्ञापन के लिए संपर्क करें - 9214996258, 7014468512,9929701157.

Post a comment

0 Comments