केंद्र सरकार ने बढ़ाए वैध गर्भपात के महीने, गर्भस्थ शिशु संरक्षण समिति कर रही विरोध

जीवन अनमोल है , इसे आत्महत्या कर नष्ट नहीं करें !

मास्क लगाकर रहें ! सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखें !

संस्कार न्यूज़ @ राम गोपाल सैनी 

झुंझुनूं (संस्कार न्यूज़) वैध गर्भपात करवाने के लिए केंद्र सरकार ने राज्य सभा में नया विधेयक पास किया है, जिसमें अब 20 माह की बजाय 24 माह तक के गर्भ का भी चिकित्सक गर्भपात करवा सकेंगे | इस नए विधेयक का विरोध शुरू हो गया है|

गर्भस्थ शिशु संरक्षण समिति इस संदर्भ में सरकार से बातचीत करने के अलावा ज्ञापनों के जरिए विरोध करेगी | यदि सरकार इसे विड्रा नहीं करती है तो कोर्ट का दरवाजा खटखटाने का फैसला लिया गया है |

गर्भस्थ शिशु संरक्षण समिति अपने 25 साल पूरे होने पर पूरे देश के 15 राज्यों में जन जागृति रथ यात्रा निकाल रही है | यह यात्रा झुंझुनूं जिले के चिड़ावा पहुंची, जहां पर समिति के स्थानीय अध्यक्ष झंडीप्रसाद हिम्मतरामका के नेतृत्व में यात्रा का स्वागत किया गया | इस मौके पर राष्ट्रीय अध्यक्ष रामकिशोर तिवाड़ी ने बताया कि समिति 25 सालों से गर्भस्थ भ्रूण संरक्षण के लिए काम कर रही है ,यह रजत जयंती वर्ष है, इसलिए पूरे राजस्थान में जन जागृति पैदा करने के लिए यह रथ निकला हुआ है | उन्होंने कहा कि जनसंख्या नियंत्रण के नाम पर गर्भपात को बढावा दिया जा रहा है | बेटे की चाहत में परिवार नियोजन को अपनाया जा रहा है, जो गलत है |

समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष रामकिशोर ने की विधेयक की निंदा
गर्भस्थ शिशु संरक्षण समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष रामकिशोर तिवाड़ी ने इस मौके पर राज्य सभा में पिछले दिनों पास किए गए विधेयक की निंदा की | उन्होंने कहा कि गर्भपात करवाने के लिए पहले 20 सप्ताह तक के गर्भ का गर्भपात करवा सकते थे | अब केंद्र सरकार ने राज्य सभा में विधेयक पास कर इसे 24 सप्ताह तक कर दिया है, जो गलत है | सरकार इस तरह से गर्भपात को बढ़ावा देकर गर्भस्थ शिशुओं को धरती पर आने से रोक रही है | उन्होंने कहा कि इसके लिए भी ज्ञापन आदि भेजे जाएंगे, वहीं जन जागरण किया जाएगा | फिर भी सरकार ये विधेयक विड्रा नहीं करती है तो कोर्ट का दरवाजा खटखटाया जाएगा |

लिंगानुपात में भी सुधार हुआ 
गर्भस्थ शिशु संरक्षण समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष रामकिशोर तिवाड़ी ने बताया कि राजस्थान में यह जन जागृति यात्रा पांच चरणों में पूरी होगी , हर चरण 11—11 दिन का होगा | अब तक पश्चिमी और पूर्वी राजस्थान में यात्रा का आयोजन किया गया है | राजस्थान में यात्रा पूरी करने के बाद यह यात्रा देश के 15 राज्यों में जाएगी, जहां पर समिति अपना काम कर रही हैं | उन्होंने कहा कि निश्चित तौर पर 25 सालों से समिति ने जो काम किया है, उसके बाद जनचेतना आई है | यही कारण है कि 20 साल पहले जो लोग डीएनसी, भ्रूण हत्या को नहीं जानते थे | वे अब इससे जानने लग गए है | सरकार को भी समिति ने जनहित में कोर्ट द्वारा मजबूर किया कि वे भ्रूण हत्या को लेकर कानून बनाएं | वहीं, लिंगानुपात में भी सुधार हुआ है |

इससे पहले चिड़ावा पहुंचने पर यात्रा का स्थानीय अध्यक्ष झंडीप्रसाद हिम्मतरामका के नेतृत्व में स्वागत किया गया | स्वागत करने वालों में अग्रवाल जन कल्याण समिति के अध्यक्ष दामोदरप्रसाद हिम्मतरामका, समाजसेवी सांवरमल हलवाई, प्रदीप हिम्मतरामका, पं. प्रभुशरण तिवाड़ी आदि रहे | इसके बाद यात्रा झुंझुनूं होते हुए नवलगढ़ और बाद में सीकर के लिए रवाना हो गई |


हम सभी किसी ना किसी रूप में जरूरतमंदों की सेवा कर सकते हैं | पड़ोसी भूखा नहीं सोए इसका ध्यान रखें |

" संस्कार न्यूज़ " कोरोना योद्धाओं को दिल से धन्यवाद देता है |

विडियो देखने के लिए -https://www.youtube.com/channel/UCDNuBdPbTqYEOA-jHQPqY0Q 

अपने आसपास की खबरों , लेखों और विज्ञापन के लिए संपर्क करें - 9214996258, 7014468512,9929701157.

Post a comment

0 Comments