Ad Code

लॉक डाउन से नि:स्वार्थ पक्षी परींडा सेवा में दानों को तरसे पक्षी

घर पर रहें , सुरक्षित रहें ! सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखें !


संस्कार न्यूज़ @ राम गोपाल सैनी / गोविंद सैनी


लॉक डाउन में पक्षी भूक से तड़प रहे 


पक्षियों के दाने का स्टॉक हुआ ख़त्म 


पक्षी प्रेमी घनश्याम कुमावत कि आँखों में आ रहे आँसू


पक्षियों के दाने कि व्यवस्था में सभी करें सहयोग 


चौमूं @ (संस्कार न्यूज़ )  शहर में निस्वार्थ पक्षी परिंडा फ्री सेवा एवं उपचार चोमू द्वारा चलाए जा रहे पक्षी परिंदों की सेवा में पक्षियों के दाने की आपूर्ति जहां पर भी नहीं हो पाती वहां पर संयोजक घनश्याम कुमावत हाथ जोड़कर पक्षी परिंदों के सामने कर रहे हैं समर्पण |



निस्वार्थ पक्षी परिंडा फ्री सेवा एवं उपचार चोमू के संयोजक घनश्याम कुमावत द्वारा वर्ष 2013 में संपूर्ण चोमू शहर में पक्षियों के पानी के परिंडे लगाकर नियमित सेवा का बीड़ा उठाया था | संयोजक कुमावत के  सेवा भाव को देखकर शहरवासीयों एवं व्यापारीयों ने दाना पात्र लगाने कि बात कहकर दाने का सहयोग सुचारु किया था,जिससे आज 300 स्थानों पर दाना - पानी की परिंदों की सेवाएं संचालित अनवरत कि जा रही हैं | आज नियमित 60-70 किलो पक्षी दाना प्रतिदिन पक्षियों को भेंट किया जाता है |


कोरोना वैश्विक महामारी के चलते व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद होने से पक्षी दाना आवक कम हो गई  है | संयोजक ने दाने की नियमित सेवाएं बनाए रखने के लिए शहर के पक्षी दानपात्रों का उपयोग करना चाहा , मगर समाज कंटकों द्वारा इन पात्रों को तोड़ सारी दान राशि निकल ली |



संयोजक कुमावत को हताश देखकर संयोजक की पत्नी पिंकी कुमावत ने घरेलू उपयोग के लिए लाए गए, गेहू के 10 कट्टे पक्षी दाने के लिए समर्पित कर दिए | लाक डाऊन का तीसरे चरण बढ़ने से पक्षी दाना सहयोग दिन-प्रतिदिन कम होता जा रहा है  | जो प्रतिदिन के हिसाब से बहुत कम पड़ता है | कुमावत को जो भी दाना का सहयोग उपलब्ध होता है, उसको पक्षियों को समर्पित कर शेष पक्षी परिंदों  में पानी डालकर पक्षी दाना पात्रों के सामने संयोजक कुमावत उदास मन से हाथ जोड़कर आगे बढ़ जाते हैं |


गौरतलब है कि पक्षी प्रेमी घनश्याम कुमावत और इनकी पत्नी बाज़ार में लगने वाले हटवाडे में अपनी दुकान लगाकर अपना भरण - पोषण करते हैं | लॉक डाउन में वो भी बंद हो चुका है |  उसी में से पैसा बचाकर पक्षियों कि सेवा करते हैं |


इस महामरी में पक्षी भूख से तड़प कर नहीं मरें इसके लिए इंसानों के साथ भामाशाह बेजुबानों के खाने कि व्यवस्था में भी आगे आकार सहयोग करें | हर घर से कुछ दाना मिलेगा तो पक्षी भूखे नहीं रहेंगे |  कृपया आप सभी सहयोग करें | सम्पर्क - 9351409081.


हम सभी किसी ना किसी रूप में जरूरतमंदों की सेवा कर सकते हैं | पड़ोसी भूखा नहीं सोए इसका ध्यान रखें |



" संस्कार न्यूज़ " कोरोना योद्धाओं को दिल से धन्यवाद देता है |


विडियो देखने के लिए लिंक को टच करें - https://www.youtube.com/channel/UCDNuBdPbTqYEOA-jHQPqY0Q 




अपने आसपास की खबरों , लेखों और विज्ञापन के लिए संपर्क करें - 9214996258, 7014468512, 8058171770.






Post a comment

0 Comments