शाही लवाजमे,गाजे-बाजे के साथ निकली गणगौर की सवारी

 जीवन अनमोल है , इसे आत्महत्या कर नष्ट नहीं करें !

मास्क लगाकर रहें ! सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखें !

संस्कार न्यूज़ @ राम गोपाल सैनी 

सीकर (संस्कार न्यूज़) नीमकाथाना के गुहाला कस्बे में प्रतिवर्ष की भाँति गणगौर की सवारी मात्र भव्य झांकी रूप में ही निकाली गई। हमारी संस्कृति व विरासत को संजोकर रखना हमारा कर्त्तव्य है। संस्कृति बिना हमारा जीवन सदैव अधूरा रहता है।

इन्हीं सब बातों को ध्यान में रखकर राज्य सरकार द्वारा जारी कोरोना गाइडलाइन एवं दिशानिर्देशों की पालना करते हुए, गणगौर की सवारी शाही लवाजमे में गाजे-बाजे के साथ प्राचीन विरासत गुहाला गढ़ से निकाली गई जो रामलीला मैदान, चौपड़ बाजार पुराना बैंक रास्तों से गुजरते हुए सायं पाँच बजे कांटली नदी तट पर पहुंची।

 नदी पाट पर कन्याओं,नवविवाहिताओं व महिलाओं ने गणगौर माता के दर्शन कर गाँव में सुख समृद्धि की कामना की। इसके बाद लौटकर गणगौर-ईशर सवारी वापस मुख्यमार्गों से गुजरते वार्ड नंबर चार होते हुए पुनः गढ़ परिसर में पहुंची।


हम सभी किसी ना किसी रूप में जरूरतमंदों की सेवा कर सकते हैं | पड़ोसी भूखा नहीं सोए इसका ध्यान रखें |

" संस्कार न्यूज़ " कोरोना योद्धाओं को दिल से धन्यवाद देता है |

विडियो देखने के लिए -https://www.youtube.com/channel/UCDNuBdPbTqYEOA-jHQPqY0Q 

अपने आसपास की खबरों , लेखों और विज्ञापन के लिए संपर्क करें - 9214996258, 7014468512,9929701157.

Post a comment

0 Comments