पर्यावरण को स्वच्छ व हरा रखने में उपयोगी है ग्रीन कैमेस्ट्री

जीवन अनमोल है , इसे आत्महत्या कर नष्ट नहीं करें !

मास्क लगाकर रहें ! सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखें !

संस्कार न्यूज़ @ राम गोपाल सैनी 

लाडनूं (संस्कार न्यूज़) जैन विश्वभारती संस्थान (मान्य विश्वविद्यालय) के शिक्षा विभाग के अन्तर्गत संकाय संवर्द्धन कार्यक्रम के तहत डा. ममता सोनी ने ग्रीन कैमेस्ट्री के सिद्धांतों की उपयोगिता पर अपना व्याख्यान प्रस्तुत किया। 

लाडनूं के जैविभा में ग्रीन कैमेस्ट्री पर व्याख्यान देते हुए डा. ममता सोनी

डा. सोनी ने बताया कि ग्रीन कैमेस्ट्री पर्यावरण के प्रदूषण को कम करने में उपयोगी है। इसके द्वारा विभिन्न संश्लेषण से बनने वाले विषैले व विस्फोटक सह उत्पदों का बनना कम किया जाकर पर्यावरण को स्वच्छ व हरा रखा जा सकता है। उन्होंने बताया कि ग्रीन कैमेस्ट्री 12 सिद्धांतों पर आधारित है। इन सभी 12 सिद्धांतों के अनुप्रयोगों के आधार पर इस शाखा में वृहत स्तर पर अनुसंधान किया जा सकता है। हानिकारक पदार्थों को दूर करने में ग्रीन कैमेस्ट्री की अपनी उपयोगिता है। यह पर्यावरण को सुरक्षित रखने का रसायन है। ग्रीन कैमेस्ट्री सतत विकास व नवाचार अनुसंधान के लिए एक पथ है। ग्रीन नैनोटेक्नोलाॅजी भी एक नवाचार शाखा है, जिससे पर्यावरण विज्ञान को नैनो टेक्नोलाॅजी से जोड़ कर सूक्ष्म स्तर के व पर्यावरण सहायक उत्पाद बनाए जा सकते हैं। 

व्याख्यान के अंत में विभागाध्यक्ष प्रो. बीएल जैन ने आभार ज्ञापित किया। कार्यक्रम में डा. मनीष भटनागर, डा. बी. प्रधान, डा. विष्णु शर्मा, डा.. सरोज राय, डा. आभासिंह, डा. गिरीराज भोजक, डा. गिरधारीलाल शर्मा, प्रमोद ओला आदि उपस्थित रहे।


हम सभी किसी ना किसी रूप में जरूरतमंदों की सेवा कर सकते हैं | पड़ोसी भूखा नहीं सोए इसका ध्यान रखें |

" संस्कार न्यूज़ " कोरोना योद्धाओं को दिल से धन्यवाद देता है |

विडियो देखने के लिए -https://www.youtube.com/channel/UCDNuBdPbTqYEOA-jHQPqY0Q 

अपने आसपास की खबरों , लेखों और विज्ञापन के लिए संपर्क करें - 9214996258, 7014468512,9929701157.

Post a comment

0 Comments