Ad Code

स्कूल बंद होने का सिलसिला हुआ शुरू

जीवन अनमोल है , इसे आत्महत्या कर नष्ट नहीं करें !

मास्क लगाकर रहें ! सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखें !

संस्कार न्यूज़ @ राम गोपाल सैनी 

दिल्ली (संस्कार न्यूज़) दिल्ली में बढ़ते कोरोना के मामले को लेकर शिक्षा निदेशालय ने गुरुवार को आदेश जारी करते हुए कहा कि दिल्ली के किसी भी स्कूल में अगले आदेश तक नए शैक्षणिक सत्र 2021-22 के लिए छात्र-छात्राओं को न बुलाया जाए।

प्रतिकात्मक चित्र 
उन्होंने कहा कि नए सत्र में पढ़ाई डिजिटल मोड से कराई जाए। आदेश के मुताबिक अकादमिक सत्र 2020-21 के लिए 9वीं, 10वीं, 11वीं और 12वीं कक्षा के विद्यार्थी को ही स्कूल आने की अनुमति है। ये विद्यार्थी अपने अभिभावकों की मंजूरी लेकर परीक्षाओं, प्रैक्टिकल, प्रोजेक्ट वर्क व इंटर्नल असेसमेंट संबंधी कार्यों के लिए स्कूल आ सकेंगे। आठवीं कक्षा तक के विद्यार्थियों को किसी भी हालत में स्कूल न बुलाया जाए।

साथ ही उन्होंने कहा कि आदेश का पालन न करने वालों को गंभीरता से लिया जाएगा। बता दें कि दिल्ली के स्कूलों में एक अप्रैल को औपचारिक रूप से नए सत्र की शुरुआत हुई, लेकिन कोरोना के चलते विद्यार्थी घर में ही रहे जिससे परिसरों में न तो चहलकदमी दिखी और न ही नयी किताबों की खुशबू।

पिछले साल कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए लागू लॉकडाउन से महज कुछ दिन पहले स्कूलों को बंद किया गया था। पिछले साल अप्रैल में नए सत्र की पढ़ाई ऑनलाइन शुरू हुई थी और इस साल अप्रैल में भी वैसी ही स्थिति है। सभी सरकारी स्कूलों एवं कुछ निजी स्कूलों में औपचारिक रूप से गुरुवार को नए शैक्षणिक सत्र की शुरुआत हुई, जबकि कुछ निजी स्कूलों की योजना पांच अप्रैल यानी सोमवार से कक्षाएं शुरू करने की है।

शिक्षा निदेशालय ने पिछले महीने एक परिपत्र जारी कर सभी सरकारी स्कूलों को एक अप्रैल से नया सत्र शुरू करने और नौवीं कक्षा तक की पढ़ाई ऑनलाइन कराने का निर्देश दिया था। हालांकि निजी स्कूलों के लिए इस तरह की अधिसूचना अब तक जारी नहीं की गई है।


हम सभी किसी ना किसी रूप में जरूरतमंदों की सेवा कर सकते हैं | पड़ोसी भूखा नहीं सोए इसका ध्यान रखें |

" संस्कार न्यूज़ " कोरोना योद्धाओं को दिल से धन्यवाद देता है |

विडियो देखने के लिए -https://www.youtube.com/channel/UCDNuBdPbTqYEOA-jHQPqY0Q 

अपने आसपास की खबरों , लेखों और विज्ञापन के लिए संपर्क करें - 9214996258, 7014468512,9929701157.



Post a comment

0 Comments