जमीन की रजिस्ट्री को लेकर सरकार ने निकाला यह नया नियम

जीवन अनमोल है , इसे आत्महत्या कर नष्ट नहीं करें !

मास्क लगाकर रहें ! सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखें !

संस्कार न्यूज़ @ राम गोपाल सैनी 

जयपुर (संस्कार न्यूज़) भूखंडों और जायदाद की एक से ज्यादा रजिस्ट्री न हो, आमजन ठगी का शिकार न हों, इसके लिए राज्य सरकार ने एक नई व्यवस्था शुरू की है | इसमें 25 लाख से अधिक के भूखंड या जायदाद की रजिस्ट्री करवाने से पूर्व मौका निरीक्षण, फोटो खींचना, गूगल लोकेशन अपलोड करने की प्रक्रिया को अनिवार्य किया|

राजस्व चोरी को रोकने और गलत तथ्यों के आधार पर दस्तावेज पेश न हों, उसके लिए राज्य सरकार ने यह नई व्यवस्था शुरू कर दी है|अब 25 लाख से अधिक के भूखंड या जायदाद की रजिस्ट्री करवाने से पूर्व मौका निरीक्षण, फोटो खींचना, गूगल लोकेशन अपलोड करने की प्रक्रिया को अनिवार्य कर दिया है| जल्द ही ये व्यवस्था जयपुर में भी लागू होगी| इससे मुद्रांक कर चोरी रोकने में तो सफलता मिलेगी लेकिन इस प्रक्रिया की अवधि लंबी होने से आमजन के लिए परेशानी भी बढ़ सकती है|

डीआईजी स्टांप प्रतिभा पारीक ने बताया कि पूर्व में दस्तावेज में निर्माण कम बताना, सड़क की चौड़ाई कम दर्शाना, व्यावसायिक दुकान को आवासीय मकान दिखाना, कॉर्नर भूखंड नहीं बताना, निर्माण की प्रकृति में बदलाव करके पक्षकारों द्वारा दस्तावेज पेश कर मुद्रांक कर की चोरी की जाती रही हैं| इसे रोकने के लिए और डिजिटल तकनीक के माध्यम से इस समस्या का निवारण करते हुए राज्य सरकार ने ई-पंजीयन मौका निरीक्षक एप बनाया है|

राजस्व कर चोरी रोकने के लिए उठाया गया कदम
इस व्यवस्था के लागू होने के बाद 25 लाख रुपये की रजिस्ट्री पेश होने के पश्चात अधिकारी द्वारा संपत्ति का अनिवार्य रूप से निरीक्षण करके मूल दस्तावेज 2-4 दिन बाद में देते हैं| इससे पक्षकारों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है| विशेषकर बैंक लोन लेने वाले पक्षकारों को बैंकों में उसी समय मूल दस्तावेज की मांग की जाती है| यह दो-चार दिन देरी से मिलने से परेशानी हो रही है| पहले प्रक्रिया में एक-दो दिन लगते थे| अब एप द्वारा मौके पर जाकर फोटो लेकर अपलोड और गूगल लोकेशन अपलोड करने की प्रक्रिया में 2 से 3 दिन का समय अधिक लग जाता है| रजिस्ट्रार और रेवेन्यू इंस्पेक्टर द्वारा मौके पर जाने में एक-दो दिन का समय लग जाता है| उसके बाद दस्तावेज अपलोड कर कंप्यूटर कार्य में भी 1 से 2 दिन लग जाते हैं| डीआईजी स्टांप प्रतिभा पारीक का कहना है कि 25 लाख से अधिक के भूखंड की रजिस्ट्री पंजीयन करने से पहले मौका निरीक्षण होगा, फोटो अपलोड की जाएगी| राजस्व कर चोरी में कमी आई है, यह आमजन के हित में भी है |


हम सभी किसी ना किसी रूप में जरूरतमंदों की सेवा कर सकते हैं | पड़ोसी भूखा नहीं सोए इसका ध्यान रखें |

" संस्कार न्यूज़ " कोरोना योद्धाओं को दिल से धन्यवाद देता है |

विडियो देखने के लिए -https://www.youtube.com/channel/UCDNuBdPbTqYEOA-jHQPqY0Q 

अपने आसपास की खबरों , लेखों और विज्ञापन के लिए संपर्क करें - 9214996258, 7014468512,9929701157.

Post a comment

0 Comments