आनंदपाल एनकाउंटर केस के 9 पुलिसकर्मियों को विशेष पदोन्नति

जीवन अनमोल है इसे आत्महत्या कर नष्ट नहीं करें !

मास्क लगाकर रहें ! सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखें !

संस्कार न्यूज़ राम गोपाल सैनी

जयपुर (संस्कार न्यूज़ ) पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की सरकार में चर्चित गैंगस्टर आनंदपाल एनकाउंटर केस में शामिल 9 पुलिसकर्मियों को गहलोत सरकार विशेष पदोन्नति देगी। इसके अलावा 90 पुलिसकर्मियों को नकद पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा। इनमें 17 पुलिसकर्मियों को 1-1 लाख, 13 को 50-50 हजार रुपए, 34 पुलिसकर्मियों को 25-25 हजार रुपए और 26 पुलिसकर्मियों को 5100-5100 रुपए का इनाम दिया जाएगा। इस संबंध में पुलिस महानिदेशक एमएल लाठर ने एक आदेश जारी किया है। गौरतलब है कि इस एनकाउंटर के बाद राजपूत नेताओं के विरोध प्रदर्शन के चलते पुलिसकर्मियों के खिलाफ FIR करवाई गई थी। हालांकि पिछले साल सीबीआई ने पुलिस को क्लीन चिट दे दी थी।

सूत्रों के मुताबिक इसके अलावा गहलोत सरकार ने दो आईपीएस और दो एडिशनल एसपी को 12 बोर की पिस्तौल से सम्मानित करने और 7 पुलिस अफसरों को प्रेसीडेंट मैडल गैलेंट्री अवार्ड से सम्मानित करने की सिफारिश की है। इसमें आनंदपाल सिंह को गोली मारने वाले स्पेशल कमांडो सोहन सिंह, तत्कालीन चुरू एसपी राहुल बारहठ, एसओजी में एडिशनल एसपी करण शर्मा, एडिशनल एसपी विद्याप्रकाश चौधरी, डीएसपी सूर्यवीर सिंह राठौड़, आरएसी के हेडकांस्टेबल कैलाश व चुरू में पुलिस कांस्टेबल हरमपाल के नाम भी शामिल है। इसके लिए राज्य सरकार केंद्र सरकार को फाइल भेजेगी। ये सभी मुख्य रूप से आनंदपाल सिंह का एनकाउंटर करने वाली पुलिस टीम में शामिल थे।

सीबीआई ने एनकाउंटर को फर्जी बताने वाली एफआईआर पर पुलिस को दी थी क्लीन चिट

आनंदपाल के एनकाउंटर के बाद वसुंधरा राजे सरकार में राजपूत नेताओं ने विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया था। तब एनकाउंटर को फर्जी बताते हुए इसमें शामिल पुलिसकर्मियों के खिलाफ FIR दर्ज करवाई गई थी। साथ ही मामले में सीबीआई जांच का दबाव बनाया गया। लेकिन सीबीआई ने पिछले साल ही अपनी जांच पूरी कर एनकाउंटर को सही ठहराते हुए पुलिस को क्लीन चिट दी थी। सीबीआई ने आनंदपाल एनकाउंटर को फर्जी बताए जाने से जुड़े मामले में एफआर लगा दी थी।

जबकि इस एनकाउंटर के बाद सांवराद में हुए हिंसक उपद्रव के मामले में आनंदपाल की बेटी व राजपूत समाज के पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की सरकार में चर्चित गैंगस्टर आनंदपाल एनकाउंटर केस में शामिल 9 पुलिसकर्मियों को गहलोत सरकार विशेष पदोन्नति देगी। इसके अलावा 90 पुलिसकर्मियों को नकद पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा। इनमें 17 पुलिसकर्मियों को 1-1 लाख, 13 को 50-50 हजार रुपए, 34 पुलिसकर्मियों को 25-25 हजार रुपए और 26 पुलिसकर्मियों को 5100-5100 रुपए का इनाम दिया जाएगा। इस संबंध में पुलिस महानिदेशक एमएल लाठर ने एक आदेश जारी किया है। गौरतलब है कि इस एनकाउंटर के बाद राजपूत नेताओं के विरोध प्रदर्शन के चलते पुलिसकर्मियों के खिलाफ FIR करवाई गई थी। हालांकि पिछले साल सीबीआई ने पुलिस को क्लीन चिट दे दी थी।

सूत्रों के मुताबिक इसके अलावा गहलोत सरकार ने दो आईपीएस और दो एडिशनल एसपी को 12 बोर की पिस्तौल से सम्मानित करने और 7 पुलिस अफसरों को प्रेसीडेंट मैडल गैलेंट्री अवार्ड से सम्मानित करने की सिफारिश की है। इसमें आनंदपाल सिंह को गोली मारने वाले स्पेशल कमांडो सोहन सिंह, तत्कालीन चुरू एसपी राहुल बारहठ, एसओजी में एडिशनल एसपी करण शर्मा, एडिशनल एसपी विद्याप्रकाश चौधरी, डीएसपी सूर्यवीर सिंह राठौड़, आरएसी के हेडकांस्टेबल कैलाश व चुरू में पुलिस कांस्टेबल हरमपाल के नाम भी शामिल है। इसके लिए राज्य सरकार केंद्र सरकार को फाइल भेजेगी। ये सभी मुख्य रूप से आनंदपाल सिंह का एनकाउंटर करने वाली पुलिस टीम में शामिल थे।

सीबीआई ने एनकाउंटर को फर्जी बताने वाली एफआईआर पर पुलिस को दी थी क्लीन चिट

आनंदपाल के एनकाउंटर के बाद वसुंधरा राजे सरकार में राजपूत नेताओं ने विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया था। तब एनकाउंटर को फर्जी बताते हुए इसमें शामिल पुलिसकर्मियों के खिलाफ FIR दर्ज करवाई गई थी। साथ ही मामले में सीबीआई जांच का दबाव बनाया गया। लेकिन सीबीआई ने पिछले साल ही अपनी जांच पूरी कर एनकाउंटर को सही ठहराते हुए पुलिस को क्लीन चिट दी थी। सीबीआई ने आनंदपाल एनकाउंटर को फर्जी बताए जाने से जुड़े मामले में एफआर लगा दी थी।

जबकि इस एनकाउंटर के बाद सांवराद में हुए हिंसक उपद्रव के मामले में आनंदपाल की बेटी व राजपूत समाज के नेताओं सहित करीब 24 लोगों के खिलाफ कोर्ट में चार्जशीट पेश की थी। एफआर में सीबीआई ने कहा है कि आनंदपाल एनकाउंटर फर्जी नहीं था। इसमें पुलिस की विश्वसनीयता पर संदेह करने का काेई कारण नहीं है।

सीबीआई ने यह भी कहा था

एसीजेएम (सीबीआई केसेज) काेर्ट में पेश एफआर में यह भी कहा गया है कि आनंदपाल की एके-47 से ही पुलिस के कमांडाे साेहन सिंह पर गाेलियां चलाई गई थीं। पुलिस ने जान बचाने के लिए फायरिंग की। दूसरी ओर, दंगे भड़काने के मामले में पेश चार्जशीट में आनंदपाल की बेटी याेगिता सिंह, राजपूत समाज के नेता लोकेंद्रसिंह कालवी, सुखदेव सिंह गाेगामेड़ी, रणवीर सिंह गुड़ा, मारवाड़ राजपूत सभा के अध्यक्ष व कांग्रेस नेता हनुमानसिंह खांगटा सहित 24 लाेगाें को आरोपी बनाया गया।

सीबीआई ने जांच में माना था कि इन आरोपियों ने सरकार पर दबाव बनाने के श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया और भड़काऊ भाषण दिया। इसके बाद अनियंत्रित भीड़ ने नागाैर एसपी के वाहन पर हमला कर आग लगा दी।पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की सरकार में चर्चित गैंगस्टर आनंदपाल एनकाउंटर केस में शामिल 9 पुलिसकर्मियों को गहलोत सरकार विशेष पदोन्नति देगी। इसके अलावा 90 पुलिसकर्मियों को नकद पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा। इनमें 17 पुलिसकर्मियों को 1-1 लाख, 13 को 50-50 हजार रुपए, 34 पुलिसकर्मियों को 25-25 हजार रुपए और 26 पुलिसकर्मियों को 5100-5100 रुपए का इनाम दिया जाएगा। इस संबंध में पुलिस महानिदेशक एमएल लाठर ने एक आदेश जारी किया है। गौरतलब है कि इस एनकाउंटर के बाद राजपूत नेताओं के विरोध प्रदर्शन के चलते पुलिसकर्मियों के खिलाफ FIR करवाई गई थी। हालांकि पिछले साल सीबीआई ने पुलिस को क्लीन चिट दे दी थी।

सूत्रों के मुताबिक इसके अलावा गहलोत सरकार ने दो आईपीएस और दो एडिशनल एसपी को 12 बोर की पिस्तौल से सम्मानित करने और 7 पुलिस अफसरों को प्रेसीडेंट मैडल गैलेंट्री अवार्ड से सम्मानित करने की सिफारिश की है। इसमें आनंदपाल सिंह को गोली मारने वाले स्पेशल कमांडो सोहन सिंह, तत्कालीन चुरू एसपी राहुल बारहठ, एसओजी में एडिशनल एसपी करण शर्मा, एडिशनल एसपी विद्याप्रकाश चौधरी, डीएसपी सूर्यवीर सिंह राठौड़, आरएसी के हेडकांस्टेबल कैलाश व चुरू में पुलिस कांस्टेबल हरमपाल के नाम भी शामिल है। इसके लिए राज्य सरकार केंद्र सरकार को फाइल भेजेगी। ये सभी मुख्य रूप से आनंदपाल सिंह का एनकाउंटर करने वाली पुलिस टीम में शामिल थे।

सीबीआई ने एनकाउंटर को फर्जी बताने वाली एफआईआर पर पुलिस को दी थी क्लीन चिट

आनंदपाल के एनकाउंटर के बाद वसुंधरा राजे सरकार में राजपूत नेताओं ने विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया था। तब एनकाउंटर को फर्जी बताते हुए इसमें शामिल पुलिसकर्मियों के खिलाफ FIR दर्ज करवाई गई थी। साथ ही मामले में सीबीआई जांच का दबाव बनाया गया। लेकिन सीबीआई ने पिछले साल ही अपनी जांच पूरी कर एनकाउंटर को सही ठहराते हुए पुलिस को क्लीन चिट दी थी। सीबीआई ने आनंदपाल एनकाउंटर को फर्जी बताए जाने से जुड़े मामले में एफआर लगा दी थी।

जबकि इस एनकाउंटर के बाद सांवराद में हुए हिंसक उपद्रव के मामले में आनंदपाल की बेटी व राजपूत समाज के नेताओं सहित करीब 24 लोगों के खिलाफ कोर्ट में चार्जशीट पेश की थी। एफआर में सीबीआई ने कहा है कि आनंदपाल एनकाउंटर फर्जी नहीं था। इसमें पुलिस की विश्वसनीयता पर संदेह करने का काेई कारण नहीं है।

सीबीआई ने यह भी कहा था

एसीजेएम (सीबीआई केसेज) काेर्ट में पेश एफआर में यह भी कहा गया है कि आनंदपाल की एके-47 से ही पुलिस के कमांडाे साेहन सिंह पर गाेलियां चलाई गई थीं। पुलिस ने जान बचाने के लिए फायरिंग की। दूसरी ओर, दंगे भड़काने के मामले में पेश चार्जशीट में आनंदपाल की बेटी याेगिता सिंह, राजपूत समाज के नेता लोकेंद्रसिंह कालवी, सुखदेव सिंह गाेगामेड़ी, रणवीर सिंह गुड़ा, मारवाड़ राजपूत सभा के अध्यक्ष व कांग्रेस नेता हनुमानसिंह खांगटा सहित 24 लाेगाें को आरोपी बनाया गया।

सीबीआई ने जांच में माना था कि इन आरोपियों ने सरकार पर दबाव बनाने के श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया और भड़काऊ भाषण दिया। इसके बाद अनियंत्रित भीड़ ने नागाैर एसपी के वाहन पर हमला कर आग लगा दी।नेताओं सहित करीब 24 लोगों के खिलाफ कोर्ट में चार्जशीट पेश की थी। एफआर में सीबीआई ने कहा है कि आनंदपाल एनकाउंटर फर्जी नहीं था। इसमें पुलिस की विश्वसनीयता पर संदेह करने का काेई कारण नहीं है।

सीबीआई ने यह भी कहा था

एसीजेएम (सीबीआई केसेज) काेर्ट में पेश एफआर में यह भी कहा गया है कि आनंदपाल की एके-47 से ही पुलिस के कमांडाे साेहन सिंह पर गाेलियां चलाई गई थीं। पुलिस ने जान बचाने के लिए फायरिंग की। दूसरी ओर, दंगे भड़काने के मामले में पेश चार्जशीट में आनंदपाल की बेटी याेगिता सिंह, राजपूत समाज के नेता लोकेंद्रसिंह कालवी, सुखदेव सिंह गाेगामेड़ी, रणवीर सिंह गुड़ा, मारवाड़ राजपूत सभा के अध्यक्ष व कांग्रेस नेता हनुमानसिंह खांगटा सहित 24 लाेगाें को आरोपी बनाया गया।

सीबीआई ने जांच में माना था कि इन आरोपियों ने सरकार पर दबाव बनाने के श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया और भड़काऊ भाषण दिया। इसके बाद अनियंत्रित भीड़ ने नागाैर एसपी के वाहन पर हमला कर आग लगा दी। 


हम सभी किसी ना किसी रूप में जरूरतमंदों की सेवा कर सकते हैं | पड़ोसी भूखा नहीं सोए इसका ध्यान रखें |

" संस्कार न्यूज़ " कोरोना योद्धाओं को दिल से धन्यवाद देता है |

विडियो देखने के लिए -https://www.youtube.com/channel/UCDNuBdPbTqYEOA-jHQPqY0Q 

अपने आसपास की खबरों , लेखों और विज्ञापन के लिए संपर्क करें - 9214996258, 7014468512,9929701157.

Post a comment

0 Comments