आशा सहयोगिनियों का आंदोलन ख़त्म

जीवन अनमोल है , इसे आत्महत्या कर नष्ट नहीं करें !

मास्क लगाकर रहें ! सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखें !

संस्कार न्यूज़ @ राम गोपाल सैनी

जयपुर (संस्कार न्यूज़ ) जयपुर में आशा सहयोगिनी का 8 दिन बाद आंदोलन खत्म हो गया है | सरकार से आशा सहयोगिनी की सभी मांगों पर सहमति बन चुकी है, जिसके बाद आशाओं ने आंदोलन खत्म करने की घोषणा की है |

आशा सहयोगिनियों को चर्चा के दौरान अवगत कराया गया कि आईसीडीएस एवं चिकित्सा विभाग के द्वारा इनके सरल जॉब चार्ट और कार्य विभाजन तय किया जाएगा, जिसमें आंगनबाड़ी मानदेय कर्मी, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और सहायिका तथा आशा सहयोगिनी के मध्य कार्य विभाजन और दायित्व सरल रूप में निर्धारित किया जाएगा | आशा फेसिलिटेटर  के अंतर्गत सहयोगिनी से चयन हेतु प्रक्रिया शीघ्र जारी की जाएगी |

व्हाट्सएप के जरिए नहीं ली जाएगी दैनिक उपस्थिति 
एएनएम प्रशिक्षण के लिए आशा सहयोगिनी का कोटा विस्तार करने के लिए कार्यवाही की जाएगी | मानदेय वृद्धि संबंधी वित्तीय मांगें राज्य सरकार से संबंधित हैं, जिन पर विचार करने के लिए पत्रावली राज्य सरकार को प्रेषित कर दी गई है और चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग से प्राप्त होने वाले इंसेंटिव में तर्कसंगत वृद्धि के लिए भारत सरकार को पत्र प्रेषित किया जाएगा | साथ ही मोबाइल डाटा के लिए प्रावधान किए जाने के लिए भी भारत सरकार को प्रस्ताव भिजवाया जाएगा. आंगनबाड़ी केंद्रों पर दैनिक उपस्थिति मोबाइल व्हाट्सएप के जरिए नहीं की जाएगी |

इन लोगों ने आंदोलन समाप्त करने पर सहमति की
शासन सचिव महिला एवं बाल विकास विभाग डॉक्टर के. के. पाठक, सचिव स्वास्थ्य एवं चिकित्सा विभाग सिद्धार्थ महाजन, मिशन निदेशक एनएचएम नरेश ठकराल, निदेशक आईसीडीएस डॉ. प्रतिभा सिंह, अतिरिक्त निदेशक पोषाहार राजेश वर्मा के साथ वार्ता कर आशा सहयोगिनी मंजू मीणा, निर्मला सेन, अरुणा, कविता शर्मा, शीला, गुड्डी वर्मा, संतोष कंवर, अनुराधा ने आंदोलन समाप्त करने पर सहमति प्रदान की |


हम सभी किसी ना किसी रूप में जरूरतमंदों की सेवा कर सकते हैं | पड़ोसी भूखा नहीं सोए इसका ध्यान रखें|

" संस्कार न्यूज़ " कोरोना योद्धाओं को दिल से धन्यवाद देता है |

विडियो देखने के लिए -https://www.youtube.com/channel/UCDNuBdPbTqYEOA-jHQPqY0Q 

अपने आसपास की खबरों , लेखों और विज्ञापन के लिए संपर्क करें - 9214996258, 7014468512, 9929701157.

Post a comment

0 Comments