Ad Code

कलेजे का टुकड़ा देना ही सबसे बड़ा दहेज !

जीवन अनमोल है , इसे आत्महत्या कर नष्ट नहीं करें !

 

मास्क लगाकर रहें ! सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखें !




संस्कार न्यूज़ @ राम गोपाल सैनी / गोविंद सैनी




चौमूं @ (संस्कार न्यूज़ ) यूं तो मैरिज गार्डनों में बड़ी-बड़ी और खर्चीली शादियां संपन्न होती नजर आती हैं ,लेकिन जब से लॉक  डाउन लगा है तब से शादी समारोह बहुत छोटे हो गए हैं और 50 व्यक्तियों तक ही सीमित हो गए हैं |


ऐसा ही नजारा आज चौमूं तहसील के सामोद रोड नीमड़ी स्थित विनय रिसोर्ट में देखने को मिला जहां सादगी से विवाह समारोह संपन्न होता हुआ नजर आया |


आपको बता दें कि चौमूं की प्रसिद्ध न्यू शाइन इंटरनेशनल स्कूल के डायरेक्टर रामकरण इंदौरा के सुपुत्र डॉक्टर संतोष सैनी की शादी खंडेला निवासी डॉक्टर ईषीता से संपन्न हुई | शादी की खास बात यह थी कि शगुन के तौर पर सिर्फ और सिर्फ 1 रुपया  और नारियल ही वधू पक्ष से लिया गया जो कि समाज में एक मिसाल पेश करता है | एक संदेश देता है की बेटियां बोझ नहीं |


दूल्हे डॉ संतोष ने बताया कि बिना दहेज के शादी करने की पहल मेरे पिताजी द्वारा की गई | ये बात पता चली तो मुझे बहुत अच्छा लगा और लड़की वालों ने भी इस बात को थोड़ी सी आनाकानी करने के बाद स्वीकार कर लिया | बिना दहेज के शादी करके समाज को एक संदेश देने का मेरा सपना पूरा हो गया |



वधू डॉ ईषीता ने बताया की जब मुझे मालूम पड़ा कि बिना दहेज के शादी होने वाली है, तो मैं सबसे ज्यादा खुश हुई और एक गरीब घर की बेटी को बिना दहेज के अपनाया इससे बड़े सौभाग्य की बात मेरे लिए क्या होगी | अगर सभी ऐसा सोचने लगेंगे तो समाज की दशा और दिशा ही बदल जाएगी |



दूल्हे के पिता और न्यू शाइन इंटरनेशनल स्कूल के डायरेक्टर रामकरण इंदौरा ने बताया की हमारे परिवार में यह पहला मौका है जब किसी ने बिना दहेज के शादी की है | कई दिनों से मैं सोच रहा था कि इसे अमलीजामा कैसे पहनाया जाए और मैंने खुद अपने सुपुत्र डॉक्टर संतोष की शादी बिना दहेज के करके समाज को एक नई पहल करने का मौका दिया है , क्योंकि जब एक बेटी का पिता अपने कलेजे का टुकड़ा देता है तो इससे बड़ा दहेज नहीं होता | सभी लोगों को फिजूलखर्ची को रोकते हुए विवाह संपन्न करने चाहिए, ताकि आर्थिक बोझ नहीं पड़े |



दूल्हे के भाई राहुल सैनी ने बताया कि जब मुझे पापा ने बताया कि बिना दहेज के शादी करेंगे तो मुझे इस घर में पैदा होने पर गर्व महसूस हुआ | जितना पैसा शादी में लगाते हैं ,उतना पैसा अगर बेटी को पढ़ाने में लगाएंगे तो परिवार, समाज और देश तरक्की करेंगे |बिना दहेज के शादी करने में लड़कों को आगे आना चाहिए और सम्मान करना चाहिए |




हम सभी किसी ना किसी रूप में जरूरतमंदों की सेवा कर सकते हैं | पड़ोसी भूखा नहीं सोए इसका ध्यान रखें |




" संस्कार न्यूज़ " कोरोना योद्धाओं को दिल से धन्यवाद देता है |


विडियो देखने के लिए - https://www.youtube.com/channel/UCDNuBdPbTqYEOA-jHQPqY0Q 




अपने आसपास की खबरों , लेखों और विज्ञापन के लिए संपर्क करें - 9214996258, 7014468512, 8058171770.





Post a comment

0 Comments